[Updated] स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 2020 - Haqsesikho

स्वच्छ भारत अभियान - भारत सरकार की कैसी योजना जो 2 अक्टूबर 2014 हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र जी मोदी द्वारा इस अभियान की शुरुआत की गई ।
        शुरुआत से ही स्वच्छ भारत अभियान का मुख्य उद्देश्य देश में पहले अस्वच्छता के जाल को हटाना एवं स्वच्छता को जन-जन तक पहुंचाना रहा है और समझाने से बखूबी रूप से पूर्ण भी किया है ।

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध
स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध

      स्वच्छ भारत अभियान एक ऐसा सफल अभियान बना है जिसने भारत की अंतरराष्ट्रीय छवि को आचार्य परिवर्तित किया है परंतु साथ ही साथ लोगों में भी जागरूकता फैलाई है ।
    स्वच्छ भारत अभियान को ध्यान में रखते हुए अनेक स्कूलों, कॉलेजों एवं अन्य संस्थानों में प्रतिवर्ष कई प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है जिसमें से swachh bharat abhiyan par nibandh, swachh bharat abhiyan par nibandh with points आदि प्रतियोगिताएं प्रमुख है ।
    अगर आपने भी अपने स्कूल कॉलेज या कहीं पर भी swachh bharat abhiyan par nibandh लिखने में हिस्सा लिया है तो आप बिल्कुल सही स्थान पर हैं ।

Swachh bharat abhiyan par nibandh 

Swachh bharat abhiyan par nibandh

प्रस्तावना - स्वच्छता हमारा नैतिक गुण है हम अपने घर कार्यालयों एवं अपने आप को स्वच्छ रखते हैं परंतु हम अपने घरों को तो साफ एवं स्वच्छ रखते हैं लेकिन हमारे आसपास के गली मोहल्लों एवं सड़कों को गंदा करते हैं उन अपना घर नहीं समझते जबकि वास्तव में पूरा देश ही हमारा घर है हमें सड़कों एवं अन्य स्थानों पर कचरा ना फैलाना हमारा कर्तव्य है जिस प्रकार घर को साफ रखते हैं उसी प्रकार हमें सड़कों एवं गली मोहल्लो को भी रखना चाहिए ।
    आज हमारी आवश्यकता है कि हम स्वच्छता के महत्व को समझें और अपने अंदर स्वयं से यह शपथ ले कि हम सदैव गंदगी नहीं पिलाएंगे अगर हम पहले ही जागरूक हो जाते और स्वच्छता के बारे में समझते तो हमें स्वच्छ भारत अभियान की आवश्यकता पड़ती ही नहीं किंतु अभी आवश्यक यह है कि हम इस अभियान को और अधिक सफल बनाएं ।

स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत

स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत हमारे देश के तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र जी मोदी द्वारा 2 अक्टूबर जाने गांधी जी के जन्म दिवस पर सन 2014 में की गई थी जो इसके बाद 5 साल जाने कि सन 2019 तक चला ।
     इस अभियान ने भारत को एक नई सुबह प्रदान की और एक उम्मीद की मशाल बनकर लोगों में स्वच्छता के प्रति जागरूकता को फैलाया स्वच्छता के प्रकाश से लोगों को अवगत कराया आज की स्थिति और 2014 की स्थिति में बहुत अधिक अंतर है और वह अपनी आंखों से देखा है यह परिवर्तन किसे से छुपा नहीं है ।
    चाहे स्वच्छ भारत अभियान की अवधि समाप्त हो चुकी हो लेकिन जहां अभियान आज भी चल रहा है और लगातार चलता रहेगा बस परिवर्तन इतना है कि पहले सरकार लोगों में जागरूकता फैला रही थी और आज लोग स्वयं दूसरों को जागरुक कर रहे हैं ।

स्वच्छ भारत अभियान के फायदे

स्वच्छ भारत अभियान से होने वाले फायदों की अगर एक सूची बनाई जाए तो शायद वह भी छोटी पड़ जाएगी क्योंकि इस अभियान ने हमें एक नहीं बल्कि अनेक फायदे पहुंचाएं ह इस अभियान ने हमारे देश की स्थिति को बदला है और लोगों की सोच में परिवर्तन किया है ।
         एक समय ऐसा था जब गांवों में शौचालय वही नहीं करते थे और खुले में शौच की समस्या अत्याधिक रूप से बढ़ चुकी थी लेकिन इस अभियान के बाद लोगों ने स्वच्छता के महत्व को जाना शौचालयों का उपयोग करना सीखा और कई सारे नेताओं एवं अभिनेताओं ने मिलकर इसे बढ़ाया जिससे लोगों में जागरूकता रैली उन्होंने शौचालय के उपयोग को समझा और स्वयं तो जागरूक हुए साथ ही साथ अन्य दूसरे लोगों को भी जागरूक किया ।
    इसी के साथ शहरों में रहने वाली ऐसी जनता जो केवल अपना घर तो साफ रखती हैं लेकिन गली मोहल्लों को अपना घर नहीं समझती उन्होंने भी इस बात को समझा और यह बात जान ले कि पूरा देश ही हमारा घर है और हमें स्वच्छता खुद बरकरार रखनी है भारत देश के बच्चे बच्चे को स्वच्छता का पाठ पढ़ाया और उससे स्वच्छता के महत्व से अवगत कराया जो वाकई में काबिले तारीफ की बात है ।

उपसंहार - स्वच्छ भारत अभियान में हमें बहुत अधिक लाभ प्रदान किए हैं और आज इस अभियान के कारण ही हम यह बात बड़े गर्व से कह सकते हैं कि हमें ऐसे देश के नागरिक हैं जो स्वच्छता में बहुत अधिक ध्यान देता है और इससे एक महत्वपूर्ण पहलू मानता है ।
     अब बस जाओ सकता है कि हम इसी तरह जागरूकता को अन्य लोगों तक पहुंचाते रहे आने वाली युवा पीढ़ी एवं तैयार हो रही नई पीढ़ी को इस बात से अवगत कराएं कि स्वच्छता कितनी आवश्यक है इसी बात को ध्यान में रखते हुए हमारी सरकार प्रतिवर्ष पूरे देश में सबसे स्वच्छ शहर को चुनती है जो जनता में अपने शहर को स्वच्छ रखने और उसे आगे बढ़ाने की पहल को तैयार करता है ।

Swachh bharat abhiyan par nibandh 2020 

Swachh bharat abhiyan par nibandh 2020

प्रस्तावना - महात्मा गांधी जाने कि हमारे बापू में सदैव से ही स्वच्छता को बहुत अधिक महत्व दिया है उनका स्वच्छता को देखने का नजरिया बिल्कुल अलग था वह हमेशा कहते थे कि स्वच्छता स्वतंत्रता से ज्यादा आवश्यक है जब तक आप स्वच्छ नहीं होंगे तब तक आप स्वतंत्र नहीं होंगे ‌।
      यह बात बड़ी विचार करने वाली है स्वतंत्रता और स्वच्छता दोनों ही एक राष्ट्र एक देश के लिए बहुत ही आवश्यक होते हैं जहां स्वतंत्रता है वहां स्वच्छता भी होनी चाहिए यही विचार था बापू का, महात्मा गांधी स्वच्छता को स्वतंत्रता से इसलिए ऊपर मानते थे कि जब तक हम स्वच्छता के महत्व को नहीं समझ पाएंगे तब तक हम स्वतंत्रता का महत्व कैसे जानेंग ।


स्वच्छ भारत अभियान क्या है

 ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌     स्वच्छ भारत अभियान वास्तव में एक आम अभियान नहीं बल्कि एक आंदोलन है ऐसा आंदोलन स्वच्छता के लिए किया गया है । महात्मा गांधी सदैव स्वच्छता के बड़े पक्ष में रहे हैं और उन्होंने स्वच्छता जागरूकता के लिए सदैव प्रयास भी किया है ।
          लेकिन वास्तव में इस अभियान की शुरुआत सन 1999 से ही मानी जाती है क्योंकि उसी समय से ही सरकार ने स्वच्छता के प्रति अधिक ध्यान देना शुरू कर दिया था उसके बाद सन् 2012 में तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह जी द्वारा इस अभियान को निर्मल भारत योजना का नाम दिया और उसकी शुरुआत की इसके बाद हमारे नए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र जी मोदी द्वारा सन 2014 में 2 अक्टूबर को जाने कि हमारे महात्मा गांधी जी के जन्मदिवस पर इस अभियान को स्वच्छ भारत अभियान के नाम से शुरू किया ।
     और स्वच्छ भारत अभियान हम सभी जानते हैं कितना अधिक सफलता पूर्व रहा और इसने हमारे देश की स्थिति को और भविष्य को एक नई दिशा प्रदान की ।

स्वच्छ भारत अभियान में योगदान

स्वच्छ भारत अभियान में बड़े से बड़े राजनेता से लेकर बड़े से बड़े अभिनेता ने सहयोग दिया है । स्वच्छ भारत अभियान में संपूर्ण भारत में अपना योगदान दिया और इस अभियान को सफल बनाया वास्तव में स्वच्छ भारत अभियान को सफल बनाने के लिए कई लोगों द्वारा प्रयास किए गए सरकार ने इसके लिए अभिनेताओं और नेताओं सभी का सहारा लिया ।
          आज का समय आधुनिक हो चुका है हर किसी को प्रचार-प्रसार से अपनी बातों को जनता तक रखना होता है अगर आप किसी मशहूर चेहरे का उपयोग करते हैं तो आपकी बात लोगों तक जल्दी पहुंचती है ऐसी आज की मानसिकता बहुत से लोगों की बन चुकी है और सरकार इस बात को बखूबी समझती है ।
      इसीलिए स्वच्छ भारत अभियान में सरकार ने बहुत सारे अभिनेताओं एवं ऐसे लोगों जो आम जनता में अत्याधिक मशहूर हैं उन लोगों को इस अभियान से जोड़ा और इससे जुड़कर अत्याधिक खुश हुए क्योंकि एक परिवर्तन लाने का मौका हर किसी को नहीं मिलता है इस अभियान में मुख्य रूप से सहयोग देने वाले लोगों की मैंने यहां पर एक सूची तैयार की है ।

  • सचिन तेंदुलकर 
  • बाबा रामदेव 
  • सलमान खान 
  • अनिल अंबानी 
  • प्रियंका चोपड़ा 
  • शशि थरुर 
  • मृदुला सिन्हा 
  • कमल हसन 
  • विराट कोहली 
  • महेन्द्र सिंह धोनी
  • ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ सीरियल की पूरी टीम
निष्कर्ष - गांधी जी की सदैव कहा करते थे कि यदि हम अपने आसपास सफाई नहीं रख सकते तो स्वराज्य की बात बेईमानी होगी हर किसी को अपना सफाई कर्मी स्वयं बनना होगा ।
             महात्मा गांधी जी के सुविचर से यह बात पूर्ण रूप से स्पष्ट हो जाती है कि गांधीजी स्वच्छता को लेकर अत्याधिक गहरी सोच वाले व्यक्ति थे वह सदैव स्वच्छता को सर्वोपरि रखते थे उनका यह मानना था कि स्वच्छता अगर आप अपने अंदर नहीं उतार सकते आप आसपास रुचिक नहीं रख सकते तो आपको स्वतंत्रता प्राप्त करने का भी हक नहीं है ‌।
                 और यह बात पूर्णता सही भी है अगर हम भारत देश को अपना घर मानते हैं तो हमें अपने आसपास साफ सफाई रखनी चाहिए हम अपने घर को तो साफ रख लेते हैं लेकिन सड़कों को और गली मोहल्ले को नहीं रख पाते इसका कारण क्या है क्योंकि हम अपने देश को अपना घर नहीं समझते अगर आप ने देश को अपना घर नहीं समझते हैं तो फिर आप स्वतंत्रता किस लिए चाहते हैं यह बात हमें समझ नहीं होगी कि जागरूकता हम स्वयं उत्पन्न कर सकते हैं और अन्य लोगों तक फैला सकते हैं तो चलिए मिलकर बढ़ाते हैं एक कदम स्वच्छता की ओर ।

Swachh bharat abhiyan par nibandh 250 words

 स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध

प्रस्तावना - हम यह बात बोलते हैं कि हम बहुत विकसित हो चुके हैं हमने बहुत अधिक समझ आ चुकी है हम अपना हित अहित अच्छा बुरा सब कुछ समझते हैं लेकिन क्या सत्य है अगर एक नजर से देखा जाए तो आपको यह बात सत्य भी लगेगी लेकिन अगर आप इसकी गहराई में जाएंगे तो आपको झूठ दिखाई देगी क्योंकि हम स्वच्छता को ही नहीं समझेंगे तब अच्छा बुरा क्या समझेंगे हमें स्वच्छता के लिए अभियान चलाना पड़ रहा है यह बात बहुत विचार करने योग्य और गहरी है स्वच्छता के लिए अभियान ।
     वास्तव में इसमें किसी का दोष नहीं है बल्कि कुछ स्थिति एवं कुछ छोटी सोच वाले लोगों के कारण ही आज स्थिति निर्मित हुई है आज हम बहुत आगे आ चुके हैं हमने बहुत परिवर्तन कर लिया है लेकिन जो पहले हुआ उसे हम भुला नहीं सकते उससे हमें सीखना होगा सीखना होगा कि हमें अब आगे क्या करना है हमें क्या निर्णय लेना चाहिए और हर निर्णय को लेते समय हमारा क्या विचार होना चाहिए ।
   हम हर छोटी बात के लिए सरकार के पास नहीं जा सकते हैं स्वच्छता एक बड़ा विषय है लेकिन इसे हम स्वयं भी हल कर सकते हैं जागरूकता के द्वारा । आवश्यक यह है कि हम लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए आगे बढ़े यह न सोचें कि किसको फर्क पड़ता है अगर आप यह सोचेंगे कि फर्क पड़ता है तो लोगों को फर्क पड़ेगा ।

स्वच्छ भारत अभियान और वर्तमान स्थिति

        स्वच्छ भारत अभियान की आवश्यकता क्यों पड़ी यह बात हम सब जानते हैं इसके मुख्य कारण रहे हैं भारत की तत्कालीन स्थिति भारत के ग्रामीण इलाकों में अत्याधिक लोगों का यह मानना था कि घर में शौचालय नहीं होना चाहिए एक परंपरा थी कि आप घर में इस तरह की कोई भी चीज नहीं बना सकते हैं जो अशुद्ध हो और यह बड़ी विचित्र बात है और विडंबना है कि हमारी गांव की जनता स्वच्छता के महत्व को नहीं समझती थी इसीलिए हमें स्वच्छ भारत अभियान जैसे अभियान को शुरू करना पड़ा ।
         परंतु ऐसा नहीं है कि सिर्फ स्वच्छता की आवश्यकता ग्रामों में थी शहरों में भी बहुत सारे लोग ऐसे थे जो स्वच्छता के महत्व को नहीं समझते थे कुछ खाया उसका कचरा सड़क पर फेंक दिया कुछ पिया बोतले प्लास्टिक सब कुछ आस पास फेंक दिया अपने घर को तो साथ रख लिया लेकिन गली मोहल्लों सड़कों को अपना घर नहीं समझा यह देश हमारा ही है और हम ही से आगे बढ़ाना है ।
      आज हम अमेरिका फ्रांस जापान आदि देशों की बात करते हैं उनके किए गए कार्यों की सराहना करते हैं उनकी स्वच्छता पर आश्चर्यचकित होते हैं लेकिन वास्तव में यहां पर हम अपने आप को ही गलत साबित कर रहे हैं क्योंकि वहां पर स्वच्छता उनकी जनता के कारण हम तब तक कोई कार्य करना उचित नहीं समझते जब तक कि वह स्थिति बहुत अधिक गंभीर ना हो जाए और गंभीर होने पर हम सरकार को और परिस्थितियों को दोष देते हैं जो बिल्कुल गलत है बस हमें छोटा सा काम करना है कि जो भी कचरा आसपास दिखाई देता है उसे उठाकर डस्टबिन में डाल दे आपके छोटे से कार्य से आप एक बहुत बड़ा अभियान शुरू कर देंगे ।

           उपसंहार -  यह कहना गलत होगा कि हमने स्वच्छ भारत अभियान को बिल्कुल भी नहीं समझा बल्कि यह तो बहुत ही सफलता पूर्ण अभिन रहा है इतना अधिक सफल जिसकी सफलता हम सब जानते हैं स्वच्छ भारत अभियान ने हमें स्वछता की ओर एक नई दिशा प्रदान की है और हमें स्वच्छता की एक नई सीख प्रदान की है महात्मा गांधी कहां करते थे कि स्वच्छता अगर आप में हैं तो आप स्वतंत्रता प्राप्त कर सकते हैं ।
     गांधी जी का यही विचार था कि जो व्यक्ति स्वस्थ है वह स्वतंत्र है क्योंकि वह अपने अंदर स्वच्छता को उसके महत्व को स्थान देता है आज सभी देशवासियों को दो स्वच्छता की आवश्यकता है एक बाहरी और आंतरिक जब तक हम भारी स्वच्छता नहीं रखेंगे तब तक आंतरिक हम नहीं रह सकते जब हम बाहर से स्वच्छ हो जाएंगे तब हम आंतरिक स्वच्छता भी उत्पन्न कर सकते हैं ।

Swachh bharat abhiyan par nibandh 600 words

 स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध

प्रस्तावना - स्वच्छता जीवन का अभिन्न अंग हैस्वच्छता दो प्रकार की होती है मन की स्वच्छता और तन की स्वच्छता दोनों ही एक आदर्श जीवन के लिए अत्यंत आवश्यक है जो व्यक्ति मन एवं तक दोनों से स्वच्छ होता है वह अपने जीवन में बहुत आगे बढ़ता है स्वच्छता का हमारे जीवन में अत्यधिक महत्व है ऐसा कहा जाता है कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मन का निवास होता है और स्वस्थ शरीर केवल आसपास के स्वच्छ वातावरण से संभव है ।
            इन सब से यह तो स्पष्ट हो जाता है कि अगर आप अपने जीवन में आगे बढ़ना चाहते हैं कुछ हासिल करना चाहते हैं तो आपको स्वच्छता को अपनाना होगा स्वच्छता जाने की सफाई अपने आसपास की अपने घर की अपने देश की ताकि आप स्वयं को और अपने देश को आगे पहुंचा सके । इसके लिए हम स्वच्छ भारत मिशन में स्वच्छता को इतना बढ़ावा देते हैं ।

स्वच्छ भारत मिशन एक कदम स्वच्छता की ओर

         एक कदम स्वच्छता की ओर, वास्तव में इस बात में बहुत ही अधिक गहराई है स्वच्छता को अपने जीवन में उतारना और एक देश को साफ स्वच्छ रखना हमारे ऊपर ही निर्भर करता है हम अपने आसपास की सफाई के लिए कितने जागरूक हैं कितना हम गंदगी को फैलाने से और फैलने से रोकते हैं हम कितने लोगों को जागरुक करते हैं यह बड़ी विचार करने वाली बात है ।
     कई बार ऐसा होता है कि हम स्वयं स्वच्छता रखते हैं और आसपास गली मोहल्ले सड़कों को भी साफ रखते हैं लेकिन बहुत सारे लोग ऐसे होते हैं जो यह कार्य नहीं करते हैं और हमने समझाना चाहते हैं लेकिन कुछ गलत जवाब मिलने के डर से हम उन्हें कुछ नहीं बोलते लेकिन ये हमारी सबसे बड़ी गलती होती है महात्मा गांधी इस बात पर कहा करते थे कि जो लोग गंदगी फैलाता है हम उसे समझाना चाहिए अगर नहीं समझता है तो हमें उसे गंदगी को साफ कर देना चाहिए क्योंकि देश हमारा है हो सकता है वह आज ना समझे लेकिन कल जरूर समझेगा ।
          और यही बात हमें स्वच्छ भारत मिशन समझाता है एवं स्वच्छता कैसे रख सकते हैं कैसे देश को स्वच्छ बना सकते हैं स्वच्छता की क्या आवश्यकता है हमें स्वच्छ भारत क्यों चाहिए यह सब प्रश्नों के उत्तर हमें स्वच्छ भारत मिशन से मिल जाते हैं स्वच्छ भारत मिशन ने वास्तव में भारतवासियों की जीवन में बहुत ही गहरा परिवर्तन किया है आज  हमारे सामने भारत की वर्तमान स्थिति दिखाई देती है जो अत्यंत उज्जवल और साफ है ।

निष्कर्ष - आज के समय में आवश्यकता इस बात की है कि हम स्वच्छता के महत्व को समझें और लोगों तक इस बात को पहुंचाएं स्वच्छ भारत मिशन का हिस्सा बने और इसे सफल बनाएं स्वच्छ भारत मिशन अपने आप में ही बहुत बड़ी कांति है जो देश को स्वच्छ बनाने के लिए प्रारंभ की गई है हमारे प्रधानमंत्री जी द्वारा स्वच्छ भारत मिशन को चलाने का उद्देश्य केवल और केवल देश की स्वच्छता को आगे बढ़ाना और देश को साफ और स्वच्छ बनाना था और आज हम सब इस बात से अच्छी तरह से अवगत हो चुके हैं कि स्वच्छता कितनी आवश्यक है ।

स्वच्छ भारत मिशन पर निबंध

स्वच्छ भारत मिशन महात्मा गांधी जी का भात सपना था जो आज सफल हो चुका है और कई क्षेत्रों में सफल हो रहा है आज हमने कई सारे क्षेत्रों में स्वच्छता को बढ़ावा दिया है कई सारे गांव व शहरों गलियों मोहल्लों में स्वच्छता के गीत सुनाई देते हैं लोगों में जागरूकता बढ़ती जा रही है लोग स्वच्छता के प्रति और अधिक जागरूक हो रहे हैं वे दूसरों लोगों को गंदगी फैलाने से रोकते हैं और स्वयं भी गंदगी नहीं फैलाते हैं ।
     वास्तव में महात्मा गांधी का सपना आज भारत के प्रत्येक देशवासी का सपना बन चुका है हम सब का भी सपना बन चुका है कि हम इस देश को स्वच्छ बनाएं और हमारे देश की तरक्की करें।
  स्वच्छ भारत मिशन को और अधिक सफल और जन जन तक पहुंचाने के लिए हम भी अपना योगदान दे सकते हैं योगदान देना बहुत ही आसान है बस हम सबको अपने आसपास के क्षेत्र पार्क सड़क गली मोहल्ले आदि को साफ रखना है गंदगी नहीं फैलाते हैं और दूसरों को गंदगी फैलाने नहीं देना है क्योंकि इस शहर हमारा है जो राज्य मारा है और यह देश हमारा है  । आज हम सब मिलकर बढ़ाते हैं एक कदम स्वच्छता की ओर ।

स्वच्छ भारत मिशन पर निबंध हिंदी में

स्वच्छ भारत का इरादा कर लिया हमने देश से अपने यह वादा कर लिया हमने हम सबको आज स्वच्छता का यह वादा निभाना है स्वच्छ भारत मिशन को और अधिक सफल बनाना है स्वच्छ भारत मिशन एडमिशन है जिसकी शुरुआत हमारे तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र जी मोदी द्वारा महात्मा गांधी के जन्म दिवस पर जाने की 2 अक्टूबर को की गई थी यह मिशन करीबन 5 साल तक लगातार चला और इसकी अवधि 5 साल तक रखी गई थी 5 साल संपूर्ण होने के बाद भी इसने बनके कांति आज भी लोगों के मन में गहरा प्रभाव डालती है ।
         सरकार द्वारा स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं चाहे स्वच्छ भारत मिशन की अवधि समाप्त हो चुकी हो लेकिन यह मिशन क्रांति समाप्त नहीं हुई है बल्कि इसने तो एक ऐसी ज्वाला का रूप ले लिया है जो प्रत्येक देशवासी में स्वच्छता के लिए उत्पन्न हुई है और स्वच्छता को नष्ट करने के लिए आरंभ हुई है हमारे वेद पुराण उपनिषद ग्रंथ उन्हें हमेशा दिल से ही स्वच्छता को सबसे ऊपर रखने की बात कही है और महात्मा गांधी भी यही कहा करते थे कि स्वच्छता स्वतंत्रता से ज्यादा आवश्यक है स्वच्छ नहीं है तो आप स्वतंत्र नहीं है अगर आप स्वच्छ हैं तो आप स्वतंत्रता की उम्मीद कर सकते हैं ।
        हम सब को भी महात्मा गांधी के स्वप्न को और अधिक सफल बनाना है महात्मा गांधी के इस सपने को आज हम सबको अपना सपना बनाकर पूर्ण करना है हमने स्वच्छता के क्षेत्र में बहुत अधिक प्रगति की है देश मैं करीबन 10 करोड से ज्यादा शौचालयों का निर्माण किया गया है और लोगों में जागरूकता फैलाई गई है हमें बस यह करना है कि आने वाली नई पीढ़ी को भी स्वच्छता के इस महत्व को समझाना है जो कभी नहीं समझे हैं उन्हें भी समझाना है स्वच्छता को आगे बढ़ाना है और यह सब हम सब के प्रयासों से ही संभव है ।

तो दोस्तों यह कुछ नहीं बंद है जिनका उपयोग आप अपने विद्यालय में कॉलेज में या जहां भी आप चाहे कर सकते हैं बस यह आप पर निर्भर करता है कि आप किस तरह से इस निबंध का उपयोग करते हैं अगर आपको यह निबंध पसंद आया है तो हमें कमेंट करके अवश्य बताएं आप के लिए कौन सा निबंध सबसे अच्छा लगा यह भी बताएं और ऐसी और अधिक जानने के लिए सीखने के लिए हमारे साथ बने रहे।

   सबसे महत्वपूर्ण बात अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कर दो शेयर करना बिल्कुल फ्री है पैसा नहीं लगेगा 😜 इस पोस्ट को पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद ।।

Post a comment

0 Comments